30 September 2009

गुलदाऊदी

मेरी भारतीय सहेली को यह सुनकर हैरत हुई कि हम गुलदाऊदी की पंखुलडी खाते हैं।



हाँ, खाते हैं।
शरद का स्वाद है।


खासकर पीली और काकरेज़ी पंखुडीकी गुलदाऊदी खाने के लिए सब्जी
की रूप में बेची जाती है।

पंखुडी को गर्म पानी में उबारकर, सिरका और शोयु से खाते हैं।
थोड़ा कडुवा, पर फूल की सुगंध भी मज़ा ले सखते हैं।



मैशरूम, गुलदाऊदी, और गुलदाऊदी के पत्ते (खने की सब्जी)

3 comments:

  1. वाह! आप तो बढ़िया हिंदी लिखती हैं।
    शुभकामनाओं के साथ स्वागत है हिंदी ब्लॉगजगत में

    ReplyDelete
  2. ब्लॉग जगत में आपका स्वागत हैं, लेखन कार्य के लिए बधाई
    यहाँ भी आयें आपके कदमो की आहट इंतजार हैं,
    http://lalitdotcom.blogspot.com
    http://lalitvani.blogspot.com
    http://shilpkarkemukhse.blogspot.com
    http://ekloharki.blogspot.com
    http://adahakegoth.blogspot.com
    http://www.gurturgoth.com
    http://arambh.blogspot.com
    http://alpanakegreeting.blogspot.com

    ReplyDelete
  3. > Sanjit ji,

    धन्यवाद और बहुत बहुत क्षमा कीजिए, जवब देने के लिए इतना
    ...6
    महिने देर...होने के लिए।


    > lalit ji,

    आप का भी मेरे बलॉग में स्वागत हैं !

    बहुत ज़्यादा हिन्दी ब्लॉग परिचय करने के लिए धन्यवाद।

    हिन्दी पढ़्ने के लिए बहुत ज़्यादा समय लगता है, लेकिन सब देखूंगी।

    ReplyDelete